blogid : 318 postid : 295

एफडीआई के फायदे

Posted On: 23 Sep, 2012 बिज़नेस कोच में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Advantages of FDI in India

हाल ही में यूपीए सरकार ने मल्टीब्रैंड खुदरा कारोबार में 51 प्रतिशत प्रत्यक्ष विदेशी निवेश को मंजूरी दे दी है. हालांकि राज्यों में ऐसे स्टोर खुलेंगे या नहीं, इस बारे में फैसला लेने का अधिकार राज्यों पर ही छोड़ दिया गया है. अब विदेशी मल्टी ब्रैंड कंपनियां भारत में भारतीय कंपनियों के साथ मिलकर काम कर सकेंगी, लेकिन कुछ शर्तों के साथ, जिनमें सबसे खास यह है कि विदेशी कंपनी की भागीदारी 51 फीसदी से ज्यादा नहीं होगी.

Read: What is FDI (In Hindi)


एफडीआई के फायदेक्या होगा एफडीआई का स्वरूप

सरकार के नए फैसले के बाद विदेशी कंपनियां भारत में भी अपने स्टोर खोल सकेंगी लेकिन इसके लिए राज्य सरकारों की मंजूरी जरूरी होगी. राज्य सरकार की मंजूरी के बाद ही विदेशी कंपनियों को मल्टी ब्रांड रिटेल स्टोर खोलने की अनुमति मिलेगी. आइए अब जानें की एफडीआई से भारत में क्या फायदा होगा?


आखिर क्यूं हो रहा है विरोध

एफडीआई का समर्थन करने वालों का तर्क है कि जब रिलायंस जैसी देश की बड़ी कंपनी ने उपभोक्ता बाजार में घुसपैठ की थी तो उसका भी विरोध हुआ था. लेकिन आज बाजार में कहीं उसका असर नजर नहीं आता. कंप्यूटराइजेशन के समय भी देशभर में विरोध हुआ था, लेकिन आज वही कंप्यूटर हर एक की जरूरत बन गया है और इन दोनों ने देश को लाखों रोजगार उपलब्ध कराए हैं.


Benefits of Foreign Direct Investment: एफडीआई के फायदे

  • एफडीआई से रोजगार मिलेगा

माना जा रहा है कि इस कदम से पूरे देश में सामान की कीमतों में एकरूपता आएगी. इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि इससे छोटे किराना दुकानदारों को परेशानी होगी, लेकिन लाखों लोगों को रोजगार भी मिलेगा. युवाओं को अलग तरह का प्रशिक्षण मिलेगा और उनके लिए संभावनाओं के नए द्वार खुलेंगे.

  • किसानों को होगा बहुत बड़ा फायदा

जानकारों का मानना है कि एफडीआई के आने से विदेशी कंपनियों को कम से कम तीस प्रतिशत कच्चा माल भारतीय किसानों से ही खरीदना होगा, जिससे किसानों की स्थिति सुधरेगी.

  • बिचौलियों का होगा खात्मा

एफडीआई का सर्वाधिक फायदा यह होगा कि बिचौलिये खत्म हो जाएंगे. बीच में कमीशन खाने वालों की छुट्टी हो जाएगी, जिससे उपभोक्ताओं को सस्ते दर पर सामान मिलेगा. कच्चा उत्पाद किसान के पास से सीधा कंपनी के पास पहुंचेगा. इससे किसानों और कंपनी दोनों को उचित लाभ मिलेगा. मल्टी ब्रांड रिटेल में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश [एफडीआई] से किसानों को फायदे का लंबी अवधि में विश्लेषण करने की जरूरत है. अगर देश के छोटे किसानों और दस्तकारों तक इसका लाभ पहुंचे तो यह कदम फायदेमंद साबित होगा. मांग बढ़ेगी तो कृषि क्षेत्र में भी सुधार होगा.

  • रुपए की हालत सुधरेगी

निवेश आने से रूपए की खस्ता हालत में भी सुधार होगा.

कुल मिला कर सरकार के इस फैसले से रिटेल की दुनिया में सकारात्मक क्रांति आने की उम्मीद है. निश्चित ही देश के लिए ये एक फायदे का सौदा साबित होगा. एफडीआई से विदेशी निवेशक और निवेश हासिल करने वाला देश, दोनों को फायदा होता है. निवेशक को यह नए बाजार में प्रवेश करने और मुनाफा कमाने का मौका देता है


अब तो यह आने वाला समय ही बताएगा कि एफडीआई देश के लिए फायदे का सौदा साबित होगा या यह देश को आर्थिक गुलामी की तरफ बढ़ाएगा.

Read: Oil Price and Tax in India

Post Your Comments on: एफडीआई के फायदे जाननें के बाद आप क्या सरकार के फैसलें का समर्थन करेंगे?


Tag: Benefits of Foreign Direct Investment, foreign direct investment, Advantages of FDI, Foreign Direct Investment Advantages, Foreign Direct Investment Definition, Advantages and Disadvantages



Tags:                               

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (11 votes, average: 3.64 out of 5)
Loading ... Loading ...

4 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

SHIKHA SINGH के द्वारा
November 11, 2016

Mai respected PM modi g ki FDI scheme se puri tarah agree hu ,kuki esse hamare desh ke youngsters ko rojgar milega jisse hmara desh aarthik roop c pragatisheel hoga…..

AMRITA CHAUHAN के द्वारा
March 31, 2015

THANK U SO MUCH FOR UR INFORMATION PAGE, I COMPLETELY UNDERSTAND THE LANGUAGE ND EASY TO LEARN FOR MY EXAM

dhiraj jondhale के द्वारा
March 20, 2014

beneficial information…thanks

Rishabh के द्वारा
July 27, 2013

Thankyou jagran junction it was very helpfull in doing my hindi homework


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran