blogid : 318 postid : 318

Mutual Fund: म्यूचुअल फंड में निवेश करते समय किन बातों का रखे ख्याल

Posted On: 29 Nov, 2012 बिज़नेस कोच में

  • SocialTwist Tell-a-Friend


यदि आप सोच रहे हैं कि म्यूचुअल फंड में निवेश किया जाए लेकिन आपको इसके बारे में जानकारी नहीं है तो घबराने की जरूरत नहीं है. सबसे पहले म्यूचुअल फंड में निवेश के लिए किसी बैंक में डीमैट अकाउंट होना जरूरी है. अगर आप नए हैं तो विशेषज्ञों की सलाह होती है कि आप किसी ब्रोकर के जरिए म्यूचुअल फंड में निवेश करिए. अगर आपको निवेश के बारे में जानकारी है तो आप स्वयं भी निवेश कर सकते हैं.


Read: पार्टी तो बना ली, अब देखें क्या है चुनौती…!!


कब और कहां करें निवेश

अगर आप लंबे समय (तीन से पांच साल) के लिए निवेश करना चाहते हैं तो इक्विटी म्यूचुअल फंड के जरिये शेयर बाजार में निवेश कर सकते हैं. ऐसा माना जाता है कि म्यूचुअल फंड में लंबे समय के लिए इक्विटी में पैसा लगाने से अच्छा रिटर्न मिलने के संभावनाएं बढ़ जाती हैं. इक्विटी के लिहाज से सीधे शेयरों या फिर म्यूचुअल फंड में पैसा लगाया जा सकता है. वहीं दूसरी तरफ यदि आप कम समय के लिए निवेश करना चाहते हैं तो डेट फंड (शॉर्ट टर्म बॉन्ड, फिक्स्ड डिपॉजिट्स, डेट ओरियंटेड म्यूचुअल फंड) आपके लिए बेहतर हो सकता है. शॉर्ट टर्म के लिहाज से यह फंड सबसे अधिक सुरक्षित माने जाते हैं. इसमें निवेशकों का पैसा सरकारी प्रतिभूतियों और बॉडों में लगाया जाता है. इसमें जोखिम के साथ-साथ रिटर्न भी कम होता है.


Read: भारतीय क्रिकेट का सचिनीकरण


किन-किन बातों का रखें ध्यान

1. सबसे पहले तो निवेशक को अपने जोखिम उठा पाने की क्षमता को समझना चाहिए. इसे समझने के लिए निवेशक की उम्र, आय और उनका लक्ष्य काफी अहम बातें हैं. कम उम्र, अधिक आय और लंबे समय के लिए निवेश करने वाले निवेशक अधिक जोखिम उठा सकते हैं. इसीलिए ऐसे निवेशक मिडकैप और सेक्टोरल फंड खरीद सकते हैं.

2. आम परिस्थितियों में किसी भी निवेशक को मिडकैप या सेक्टोरल फंड की तुलना में डाइवर्सिफाइड लार्ज कैप फंड में अधिक निवेश करने के बारे में सोचना चाहिए

3. निवेशकों को ऐसे फंड हाउसेज के म्यूचुअल फंड में निवेश करना चाहिए, जिनका बाजार में अनुभव अधिक हो और वे प्रोफेशनली मैनेज किए जाते हों. नए फंड हाउसेज से बचें. निवेशक साल-दो साल किसी भी नए फंड के प्रदर्शन का आंकलन करने के बाद इनमें निवेश कर सकते हैं.

4. नए फंड (एनएफओ) में तभी निवेश करें जब वे कुछ नई और दिलचस्प चीजों पर आधारित हों. नहीं तो पुराने और बेहतर प्रदर्शन करने वाले फंड्स में ही निवेश बेहतर रहता है.

5. म्यूचुअल फंड में कई शुल्क होते हैं. इनका खास खयाल रखें.


Read:

Mutual Fund SIP: एसआईपी के फायदे

म्यूचुअल फंड: क्या है इक्विटी और डेट फंड

क्या है म्यूचुअल फंड


Tag: how to invest in mutual fund, how to invest in mutual fund in india, investment precautions, how to invest, mutual funds, mutual funds in india, mutual funds in Hindi, fund investment, म्यूचुअल फंड, फंड, म्यूचुअल फंड में निवेश





Tags:                       

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 4.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran