blogid : 318 postid : 820460

अमीर बनने की चाहत रखने वालो के लिए क्यों है दिसंबर का महीना खास

Posted On: 23 Dec, 2014 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

अमीर बनने की चाहत रखने वाले लोगों के लिए दिसंबर खास है क्योंकि हाड़ कंपा देने वाले इस महीने में भारत के बड़े और नामी गिरामी उद्योगपतियों ने जन्म लिया है. इनमें धीरूभाई अंबानी और रतन टाटा जैसे प्रमुख नाम शामिल है.


note


आइए ऐसे ही कुछ और उद्योगपतियों पर नजर दौड़ाते हैं.



image01


धीरूभाई अंबानी: धीरूभाई अंबानी का जन्म 28 दिसंबर, 1932 को गुजरात के एक छोटे से गांव चोरवाड के एक स्कूल में शिक्षक के पद पर पदस्थ हीराचंद गोवरधनदास अंबानी के घर हुआ. उनका कोकिलाबेन के साथ विवाह हुआ था और उनके दो बेटे (मुकेश अंबानी और अनिल अंबानी) और दो बेटियां (नीना कोठारी और दीप्ति सल्गाओकर) हैं. धीरूभाई अंबानी ने 15000.00 की पूंजी के साथ रिलायंस वाणिज्यिक निगम की शुरुआत की. रिलायंस वाणिज्यिक निगम का प्राथमिक व्यवसाय पोलिस्टर के सूत का आयात और मसालों का निर्यात करना था.


image02



रतन टाटा: टाटा ग्रुप को विश्व में एक पहचान दिलाने वाले रतन टाटा का जन्म 28 दिसंबर, 1937 को मुंबई में हुआ था. रतन टाटा टाटा ग्रुप के संस्थापक जमशेद जी टाटा के गोद लिए हुए पोते हैं. 1991 में उनके चाचा जेआरडी टाटा ने रतन टाटा को अपना उत्तराधिकारी बनाने का निर्णय लिया. रतन टाटा ने कंपनी की कमान उस समय संभाली जब देश में आर्थिक सुधार से संबंधित कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गए. रतन टाटा जब तक अपने पद पर थे उन्होंने न केवल टाटा समूह को नई ऊंचाइयों तक पहुंचाया बल्कि उसकी साख पर भी आंच नहीं आने दी. वह अपनी कंपनी के ब्रांड के मूल्यों को बरकरार रखने के लिए काफी सतर्क रहे.



vijay-mallya



विजय माल्या: पहली नजर में विजय माल्या को देखने वाले लोग उन्हें एक ऐसे अय्यास की संज्ञा देते हैं जो रे-बैन चश्मे और भारी, महंगे गहने पहनने तथा फॉर्मुला वन और क्रिकेट जैसे खेले को काफी पसंद करता है. 18 दिसंबर 1955 को जन्में विजय माल्या ने छोटी सी उम्र में ही खुद के अंदर कारोबारी समझ विकसित कर ली थी. महज 30 साल की उम्र में ही माल्या ने यूबी ग्रुप को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एक बड़ी कंपनी बना दिया था. यूबी या यूनाइटेड ब्रिउरी ग्रुप की स्थापना उनके पिता विट्टल माल्या ने की थी. यूबी समूह, शराब (बीयर) और मादक पेय उद्योग पर विशेष ध्यान देने वाली कई अलग-अलग कंपनियों का एक विस्तृत समूह है. किंगफिशर ब्रांड इसका एक भाग है जो बीयर बनाती है.



Read:  दुनिया की पहली जादूगरनी बता रही है अंबानी से भी ज्यादा अमीर बनने का नुस्खा



rajiv



राजीव बजाज: 21 दिंसबर को जन्में राजीव बजाज, बजाज ऑटो के मैनेजिंग डायरेक्टर के पद पर 2005 से हैं. इन्होंने ही पहली बार बजाज की पल्सर मोटरसाइकिल को हिंदुस्तान के लोगों से परिचय कराया. इस बाइक के आने से भारत में ऑटो उद्योग में तब्दीली आ गई थी. बजाज ग्रुप के चेयरमैन राहुल बजाज के बेटे राजीव की शिक्षा पुणे के इंजीनियरिंग कॉलेज में हुई है. बाद में वह मास्टर डिग्री के लिए यूके भी गए.



image03



अजय पिरामल: भारत के 50 धनी व्यक्तियों में शामिल अजय पिरामल, पिरामल ग्रुप के चेयरमैन है. टेक्स्टाईल इंडस्ट्री से शुरुआत करके आज पिरामल ग्रुप ने हेल्थकेयर, ड्रग डिस्कवरी, हेल्थकेयर इंफोरमेशन मैनेजमेंट, फाइनेशियल सर्विसेज और रियल स्टेट में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई है. 20 दिसंबर 1955 को जन्मे अजय पिरामल के नेतृत्व में आज पिरामल ग्रुप 2 बिलियन डॉलर की कंपनी है.



sajjan jindal


सज्जन जिंदल: जेएसडब्ल्यू स्टील के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर सज्जन जिंदल का जन्म 5 दिसंबर 1959 को हरियाणा में हुआ. यह कंपनी जेएसडब्ल्यू ग्रुप का एक हिस्सा है. आज सज्जन जिंदल के नेतृत्व में 1.43 करोड़ टन क्षमता के साथ जेएसडब्ल्यू स्टील निजी क्षेत्र में देश की सबसे बड़ी स्टील निर्माता कंपनी है…...Next


Read more:

विश्व की सबसे अमीर महिला गिना राइनहार्ट

खरबों की मालकिन नीता अंबानी अपने बच्चों को जेब खर्च के लिए देती थी पांच रुपए!

दुनिया का सबसे मंहगा घर “एंटिलिया”




Tags:                 

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

2 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

dinesh patel के द्वारा
December 25, 2014

रीलायस

vinod kushwah के द्वारा
December 24, 2014

cx8w


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran