blogid : 318 postid : 1123665

कर्मचारी नौकरी छोड़ने पर मजबूर हो इसलिए कंपनियां अपना रही है ये तरीका

Posted On: 18 Dec, 2015 बिज़नेस कोच में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

किसी कम्पनी में कोई कर्मचारी तब तक रह पाता है जब तक कि कम्पनी प्रबंधन को वो फायदेमंद लगती है. कम्पनी और उसमें बैठे प्रबंधक कई बार कुछ कर्मचारियों को ऑफिस से बाहर निकालना चाहते हैं. अनेकों बार किसी कर्मचारी को बाहर निकालने की इच्छा कम्पनी के प्रबंधकों में होती है लेकिन शर्तों-नियमों से घिरे होने के कारण वो ऐसा नहीं कर पाते. इससे निजात पाने के लिये कम्पनी ने बैनिशमेंट रूम का नया विकल्प खोज निकाला है.



employee


असल में बैनिशमेंट रूम कम्पनी के वो विभाग होते हैं जहाँ ऐसे कर्मचारियों को स्थानांतरित किया जाता है. यह ऐसे कर्मचारियों को बाहर निकालने का एक अप्रत्यक्ष तरीका है जिसमें उन्हें बेकार कामों में तब तक उलझाया जाता है जब तक कि वो खुद ही हताश होकर नौकरी छोड़ कर न चलें जायें.


Read: अपने फैसलों के कारण इन जजों को भी जीना पड़ा मौत के साये में


ऐसे में उन्हें सेवा का पूरा फायदा नहीं मिला पाता. कई लाभों से वो वंचित रह जाते हैं. यह भी की उन्हें उस विभाग में भेज कर कोई कार्य नहीं दिया जाता. बिना किसी काम के बैठे-बैठे कर्मचारी ऊब जाता है और अंतत: निराश होकर खुद ही नौकरी छोड़ चला जाता है.



Read: एक बार स्पर्म डोनेट कर चीन के युवा कमा रहें हैं 51,492 रुपए…जानें भारत में क्या है दाम


इस प्रक्रिया में कम्पनी कभी भी यह स्वीकार नहीं करती कि वो कर्मचारियों को निकालना चाहती है. बैनिशमेंट रूम के रूप में कम्पनी अपने विभागों को ये नाम देती हैं जैसे ‘बिजनेस एंड ह्युमैन डेवलपमैंट सेंटर’ अथवा ‘करियर डेवलपमैंट टीम’. ऐसा नहीं है कि इस नुस्खे को छोटी कम्पनियाँ ही प्रयोग में लाती हैं. ‘बैनिशमेंट रूम’ का इस्तेमाल हितैची लिमिटेड, सोनी कॉर्प, तोशिबा कॉर्प आदि कर्मचारियों को निकालने के लिये कर रही हैं. इस विधि का इस्तेमाल उन विभागों के कर्मचारियों के लिये भी किया जाता है जिनकी उत्पादकता न्यून अथवा शून्य होती हैं.Next….



Read more:

पांच किताबों का ये लेखक सिलता है दूसरों के जूते

जमीन पर बैठकर खाने से मिलते है ये चार लाभ

ये विचित्र प्राणी चिड़ियाघर में बताता है भविष्य, लगता है लोगों का ताँता



Tags:                 

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran