blogid : 318 postid : 1193394

भारतीय नोट पर लगे महात्मा गांधी के फोटो की यह है सच्चाई

Posted On: 20 Jun, 2016 Infotainment में

Shakti Singh

  • SocialTwist Tell-a-Friend

भारतीय नोटो की पहचान उसके रंग, राष्ट्रीय चिन्ह, महात्मा गांधी की तस्वीर और आरबीआई गवर्नर के हस्ताक्षर से होती है. लेकिन एक आम व्यक्ति भारतीय नोटो की पहचान कैसे करता है? वह कैसे जान पाता है कि जिस रुपए को उसने हाथ में लिया है वह भारतीय है? दरअसल, वह महात्मा गांधी की तस्वीर है जिसे देखकर आम से लेकर खास हर कोई दूर से पहचान लेता है कि यह भारतीय रुपया है. महात्मा गांधी की यह तस्वीर हर भारतीय के दिलों- दिमाग पर छपी हुई है.


Gandhicurrency


लेकिन क्या आपको पता है कि गांधी की इस मुस्कुराती हुई तस्वीर की उत्पत्ति कैसे हुई? यह तस्वीर कहां से ली गई है? दरअसल, इस तस्वीर के पीछे की सच्चाई वह वायसराय हाउस (आज राष्ट्रपति भवन है) है जहां पर एक फोटोग्राफर ने महात्मा गांधी की यह तस्वीर ली थी.

read: भ्रष्टाचारियों को पकड़ने के लिए ऐसे काम आता है यह नोट


gandhi


राष्ट्रपति भवन में ली गई महात्मा गांधी की इस तस्वीर को फोटोग्राफर ने 1946 में खींची थी. महात्मा गांधी के साथ इस तस्वीर में ब्रिटिश नेता लॉर्ड फ्रेडरिक विलियम पैथिक लॉरेंस हैं. हालांकि भारतीय नोटो की सीरीज में महात्मा गांधी के इस तस्वीर का क्लोजअप दिखाया गया है.

imag02


आपको बता दें, भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने अगल-अगल समय पर महात्मा गांधी की इस तस्वीर वाली भारतीय नोटो की सीरिज को निकाली थी. आरबीआई ने गांधी के इस तस्वीर के साथ 5 रुपए का नोट सन 2001 में, 10 रुपए का नोट सन 1996  में, 20 रुपए का नोट सन 2001 में, 50 रुपए का सन 1997 में, 100 रुपए का सन 1996 में, 500 रुपए का सन 1997 में जबकि 1000 रुपए का नोट सन 2000 में लेकर आई…Next


Read more:

एक रुपए के ऐसे सिक्कों को बेचें यहां, मिल सकते हैं लाखों रुपए

इन देशों में जमकर बोलेगा आपका रुपया, खुद को महसूस करेंगे अमीर

भारत के सभी नोट पर हस्ताक्षर करने वाले व्यक्ति की ये है सैलरी





Tags:                 

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran